विक्रमादित्य सिंह ने की लाठीचार्ज की निंदा

 

प्रदेश में कानुन अर्थव्यवस्था चर्मराई 

टुडे टाइम्स् शिमला-युवा कांग्रेस के पूर्ब अध्यक्ष शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने युवा कांगेस पर किए गए पुलिस लाठीचार्ज की कड़ी निंदा करते हुए कहा है कि प्रदेश सरकार युवाओं की आवाज को बर्बरता से नहीं दबा सकती।लोकतंत्र में अपनी आवाज उठाने का संवैधानिक अधिकार देश के हर नागरिक को है।सरकार इस अधिकार से किसी को बंचित नहीं कर सकती।विक्रमदित्य सिंह ने कहा है कि यूबा कांगेस पर पुलिस कारवाई पूरी तरह से उकसाने वाली थी,यही बजह रही की शांति पूर्ण चल रहा प्रदर्शन उग्र हो गया। पुलिस की बर्बरता से युवा कांग्रेस के कई पदाधिकारी और कार्यकर्ता गंभीर रूप में घायल हुए है।विक्रमदित्य सिंह ने इस लाठीचार्ज की न्यायिक जाँच की मांग करते हुए,दोषी पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियो के खिलाफ कड़ी कारबाई करने की मांग की हैं।उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी संख्या में युवाओं को देख प्रशासन घबरा गया और अपनी खीज मिटाने के लिए व सरकार से अपनी पीठ थपथपाने को जल्दबाजी में लिया गया एक कदम था।विक्रमादित्य सिंह ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा विधानसभा में दिये गए उस बयान पर हैरानी जताई जिस में उन्होंने इस लाठीचार्ज के लिये पत्थरबाजी बताया है।उन्होंने कहा कि उन का यह बयान किसी भी जांच से पूर्ब ही पुलिस को कलीन चिट देना है।
विक्रमादित्य सिंह ने कहा है कि प्रदेश में कानून व्यबस्था बिगड़ती जा रही है।सरकार ने खुद राज्य विधान सभा में माना है कि पिछले सात महीनों में प्रदेश में 11651 आपराधिक मामले रिकॉर्ड हुए जिनमे 64 हत्याए हुई।यह प्रदेश की कानून व्यबस्था की पूरी पोल खोल रहा है।प्रदेश सरकार के पास युवाओं के लिए कोई ठोस नीति नहीं ला पा रही है।केंद्र की भांति प्रदेश सरकार भी केवल सब्जबाग ही दिखा रही है।

Leave a Reply

You can use these HTML tags

<a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>